गरियाबंद : कलेक्टर ने दो पालियों में ली समय-सीमा की बैठक : कोविड-19 की समीक्षा में क्वारेंटाइन सेंटर की नियमित निगरानी करने के निर्देश

लॉकडाउन के दौरान समय-सीमा की बैठक लम्बे समय पष्चात आज दो पालियों में आयोजित की गई। कलेक्टर श्याम धावड़े ने अधिकारियों को दो पालियों में बैठक हेतु आमंत्रित किया था। बैठक में जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण और बचाव की तैयारी समीक्षा की गई तथा जरूरी दिशा निर्देश दिये गये। कलेक्टर श्री धावड़े ने कहा कि प्रवासी मजदूरों के जिले में आने का सिलसिला प्रारंभ हो चुका है। ऐसी परिस्थिति में आम नागरिकों सहित अधिकारियों को भी ऐतिहात बरतना होगा। उन्होंने कहा कि मजदूरों को अनिवार्य रूप से क्वारेंटाइन सेंटर में रखा जाए तथा लक्षण नहीं दिखाई देने पर ही उन्हें होम क्वारेंटाइन के लिए भेजा जाए। श्री धावड़े ने कहा कि अभी तक नोडल अधिकारियों, राजस्व, पुलिस एवं स्वास्थ्य विभाग ने बेहतर कार्य किया है। कलेक्टर ने यह भी कहा कि क्वारेंटाइन सेंटर में स्थानीय स्तर पर नवयुवक मंडल, नेहरू युवा केन्द्र और गांव के मुखिया से सहयोग हेतु चर्चा करें। क्वारेंटाइन सेंटर से कोई भी व्यक्ति बाहर न निकले और न ही बाहर से किसी व्यक्ति को आने दिया जाए। उनके खान-पान के लिए स्थानीय व्यवस्था अनुसार या तो सूखा राशन दे अथवा उन्हें बनाकर खाना दिया जाए। श्री धावड़े ने कहा कि वर्तमान में मजदूरों की वापसी हो रही है। ऐसे में संक्रमण की संभावना है। अतः अलग-अलग प्रदेश और महानगरों से आने वाले लोगों को अलग-अलग कमरों में क्वारेंटाइन किया जाए। प्रत्येक विकासखण्ड में कोविड-19 हेतु जगह चिन्हित किया जाए, जिसे आवश्यकता पड़ेन पर उपयोग किया जा सके। कलेक्टर ने बताया कि जिला मुख्यालय में 50 बिस्तरीय कोविड हॉस्पीटल विकसित किया जा रहा है। उन्होंने आम नागरिकों एवं क्वारेंटाइन सेंटर क्षेत्रों में लोगों से अनिवार्य रूप से मास्क पहनने अपील किया है। कलेक्टर ने विभागीय अधिकारियों को क्वारेंटाइन में रह रहे लोंगों के खान-पान के लिए भी मदद देने का आग्रह किया। कलेक्टर के निर्देश पर विभिन्न विभागों द्वारा चावल और दाल प्रदाय किया गया। साथ ही उन्होंने विभागीय अधिकारियों को अपने विभागीय कार्य प्रारंभ करने के निर्देश दिये है। उन्होंने जल संसाधन, नेशनल हाईवे, उद्यान, वन विभाग तथा क्रियान्वयन एजेंसियों को स्वीकृत कार्य प्रारंभ करने कहा। वन विभाग को वनों की अवैध कटाई पर कड़ी कार्यवाही करने और वनों की संरक्षण के लिए उपाय करने के निर्देश दिये हैं। बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री विनय लंगेह ने कहा कि क्वारेंटाइन सेंटर में खाना और अन्य वस्तुओं के उपयोग के पश्चात बचे अवशेष को गड्ढा खोदकर डिस्पोज करे। उन्होंने कहा कि कन्टेंनमेंट जोन में 28 दिवस तक लगातार सेनेटाईज किया जाए। साथ ही यह भी कहा कि शासन द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पालन खुद भी करते हुए लोगों को करायें। रात्रि 7 बजे से सुबह 7 बजे तक घर से बाहर कोई न निकले। उन्होंने नोडल अधिकारियों को डेली रिर्पोटिंग करने के निर्देश दिये है। बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री विनय कुमार लंगेह, अपर कलेक्टर श्री के.के. बेहार, एडीएम श्री जे.आर. चौरसिया, उदंती सीतानदी टायगर रिजर्व के उपनिदेशक, सभी एसडीएम एवं विभागीय अधिकारीगण मौजदू थे।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2