जशपुरनगर : रायकेरा में मॉडल ऑर्गेनिक फार्म विकसित किया जायेगा : कृषि वानिकी एवं उद्यनिकी के क्षेत्र सामुदायिक सहभागिता का जिले में अनूठा उदाहरण

जशपुर-कुनकुरी विकासखंड के रायकेरा ग्राम पंचायत में उद्यानिकी एवं वानिकी के प्रोत्साहन के लिए मॉडल ऑर्गेनिक फार्म विकसित करने के लिए कुनकुरी विधायक श्री यू डी मिंज कलेक्टर श्री निलेशकुमार महादेव क्षीरसागर, वनमंडलाधिकारी श्री कृष्ण जाधव, जिला पंचायत श्री के.एस.मंडावी एवं उप संचालक कृषि श्री एम.आर भगत, श्री भदौरिया उपसंचालक उद्यान एसडीएम रवि रही समेत अन्य जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों ने प्रस्तावित स्थल का निरीक्षण किया ताकि कृषि,वानिकी एवं उद्यानिकी के बड़े प्रोजेक्ट माध्यम से एक मॉडल तैयार कर ग्रामीणों की आमदनी एवं जंगल की कटाई रोकी जा सके। साथ इस कार्ययोजना को तैयार करने के विषय विस्तृत चर्चा की गई।

रायकेरा में बेलजोरा व्यापर्तन के कारण सिंचाई की बेहतर सुविधा है परन्तु लगभग 100 एकड़ कृषि योग्य भूमि में यहाँ के किसान के सहमति से जिसके कारण यहाँ कृषि,उद्यनिकी एवं वानिकी का विकास हो सकता है गाँव मे किसानों की पर्याप्त भूमि है कुछ भूमि शासकीय है लगभग 100 एकड़ भूमि है जिसमें फलदार पौधे, औषधीय पौधे विभिन्न किस्म की सब्जियां,आदि योजनबद्ध ढंग से शासन की योजनाओं के तहत विकसित किया जाएगा।

 जिसका लाभ कृषकों को मिलेगा उनकी आर्थिक स्थिति सुदृढ होगी । सामुदायिक सहभागिता से धीरे धीरे विकसित कर उन्हें आत्मनिर्भर बनाया जाएगा। इसको निर्धारित कार्ययोजना के अनुसार मॉडल ऑर्गेनिक फार्म के रूप विकसित किये जाने की योजना तैयार की गई है जो पूरे प्रदेश के लिए सामुदायिक कृषि वानिकी एवं उद्यनिकी सहभागिता का बेहतर उदाहरण होगा जिले के किसान भी इससे प्रेरणा लेंगे जिसका लाभ उन्हें मिलेगा हमारी कृषि समृद्ध होगी इससे रोजगार भी उत्तपन्न होगा ।

कलेक्टर निलेशकुमार महादेव क्षीरसागर ने कहा कि किसानों के भूमि में शासन की विभिन्न योजनाओं के तहत कार्य कराया जाएगा और रायकेरा में मॉडल ऑर्गेनिक फार्म विकसित करने के योजना बनाई गई है। रायकेरा गाँव मे पर्याप्त भूमि है और सिंचाई की भी व्यवस्था है। जिले के लिये एक मॉडल होगा। कुनकुरी विकास खण्ड के रायकेरा के एक बड़े क्षेत्र में यह विकसित किया जा रहा है किसान सहमत हैं उनकी सहभागिता से सामुदायिक रूप से विकसित किया जा रहा है हमारा लक्ष्य मार्च 2021 तक इसे मूर्त रूप देना है चरणबद्ध तरीके से इसे विकसित किया जाएगा इसके लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दे दिए गए है निश्चित ही इस मॉडल ऑर्गेनिक फार्म से किसानों को आर्थिक आमदनी होगी और उन्हें लाभ मिल सकेगा ।

वनमंडलाधिकारी श्रीकृष्ण जाधव ने कहा कि यह उपयुक्त स्थल है जिसे मॉडल उद्यान के रूप में विकसित किया जा रहा है इस जिले में औषधीय पौधे के लिए अनुकूल मौसम है विभिन्न औषधीय वन तुलसी, बेल, तेजपत्ता, पुर्ननवा, गिलोय, मुनगा तेजबल लेमनग्रास भुइँनीम, आंवला केसर, सफेद मूसली हर्रा, बेहरा, हड़जोड़ जैसे अनेक औषधि है इनको उद्यान के रूप में विकसित कर इसे व्यवसायिक उत्पादन करने से किसानों को लाभ होगा।वनविभाग की योजनाओं के तहत इनके विकास में सहयोग किया जाएगा।

जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी के एस मंडावी ने कहा कि इस मॉडल ऑर्गेनिक उद्यान के विकास में महात्मा गाँधी रोजगार गारंटी योजना के तहत भी काम कराया जाएगा। किसानों की भूमि खेती के लिए योग्य बनाया जाएगा योजनबद्ध तरीके से तालाब डबरी कुंआ बनाये जाएंगे इससे किसानों को अपनी जमीन में कृषि के लिए सभी तरह की सुविधाएं मुहैया कराई जाएगी किसान समृद्ध होंगे।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2