राजनांदगांव : तेंदूपत्ता व्यापारियों को क्वारंटाईन सेंटर में रहना होगा

नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण के बचाव के लिए छत्तीसगढ़ राज्य में तेंदूपत्ता संग्रहण, भंडारण, परिवहन आदि कार्य के लिए दूसरे राज्य के क्रेताओं एवं उनके प्रतिनिधियों को छत्तीसगढ़ में प्रवेश करने पर क्वारंटाईन सेंटर में रखा जाएगा। जिसके लिए वन मंडल क्षेत्र राजनांदगांव एवं खैरागढ़ में क्वारंटाईन सेंटर बनाए गए हैं।
कलेक्टर श्री जय प्रकाश मौर्य ने बताया है कि वनमंडल क्षेत्र राजनांदगांव के लिए होटल अमोरा पैलेस रेवाडीह राजनांदगांव, होटल कंवर पैलेस स्टेशन रोड राजनांदगांव एवं कन्या शिक्षा परिसर अम्बागढ़ चौकी तथा वनमंडल क्षेत्र खैरागढ़ के लिए पोस्ट मैट्रिक बालक छात्रावास ग्राम अकरजन एवं सेन्ट्रल पाईन्ट लॉज डोंगरगढ़ को क्वारंटाईन सेंटर बनाया गया है। संस्थानों को तत्काल प्रभाव से क्वारंटाईन सेंटर के लिए अधिग्रहण कर दिया गया है। होटल का व्यय क्वारंटाईन सेंटर में ठहरने वालों द्वारा वहन किया जाएगा।
क्वारेंटाईन किए गए व्यक्तियों को 28 दिनों तक क्वारेंटाईन सेंटर में रहना होगा। छत्तीसगढ़ राज्य में प्रवेश करने के पश्चात् वे केवल क्वारेंटाईन सेंटर में ही रहेंगे। उन्हें कार्यक्षेत्र एवं क्वारेंटाईन सेंटर में मास्क व सेनिटाईजर का नियमित उपयोग करना होगा तथा सोशियल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। नियमित हेल्थ चेक-अप  कराना जरूरी है।  प्रतिदिन हेल्थ के संबंध में संबंधित क्षेत्र के खंड चिकित्सा अधिकारी को अनिवार्यत: रिपोर्ट करना होगा। राज्य के भीतर से दूसरे जिले से आने वाले प्रतिनिधियों को एक स्थान पर रखे जाने व उनके नियमित जांच की व्यवस्था वनमंडलाधिकारी द्वारा की जायेगी। शासन तथा प्रशासन द्वारा कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिए जारी समस्त निर्देशों का पालन करना होगा।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2