दंतेवाड़ा : छोटा राज्य बड़े फैसले : कोरोना संक्रमण को रोकने माननीय मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के अहम फैसले...

 हैं, आलम यह हैं कि कोरोना वारियर्स ना तो छुट्टी ले रहे हैं और ना ही अपनी जान की परवाह कर रहे हैं, लगातार किए जा रहे कार्यो की बदौलत अन्य देशों के मुकाबले भारत देश मौजूदा स्थिति में बेहतर स्थिति में है, बात अगर छत्तीसगढ़ राज्य की करें तो छत्तीसगढ़ सरकार ने समय रहते कई ताबड़तोड़ फैसले लिए जिस वजह से 7 राज्यों की सीमाओं से घिरे छत्तीसगढ़ राज्य में कोरोना पीड़ितों की कुल संख्या अब तक 59 पहुंची है, जबकि पड़ोसी राज्य मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र के भयानक हालात किसी से छूपा नहीं है, कोरोना प्रभावित राज्यों की सूची में जहां एक ओर मध्यप्रदेश टॉप टेन में शामिल है तो वहीं महाराष्ट्र पहले पायदान पर है, बात अगर माननीय मुख्यमंत्री श्री भुपेश बघेल और छत्तीसगढ़ सरकार के प्रमुख फैसलों की करें अंतरराज्यीय परिवहन पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने से लेकर ऑनलाइन सब्जी विक्रय ई हाट जैसे अन्य निर्णय की चर्चा देशभर में हो रही है।

जब अंतरराज्यीय परिवहन किया गया स्थगित:-
देश में जैसे ही कोरोना वायरस ने दस्तक दी माननीय मुख्यमंत्री ने राजधानी रायपुर में पहला केस आने के बाद तत्काल बाद अंतरराज्यीय परिवहन स्थगित कर दिया गया, जिसका लाभ यह हुआ कि अन्य छत्तीसगढ़ अन्य राज्यों से आने वाले संक्रमण से अछूता रहा।

नोडल अधिकारियों की नियुक्ति:-
छत्तीसगढ़ सरकार का अमला काफी बड़ा और विस्तृत है बावजूद इसके कोरोना संक्रमण को रोकने एक-एक कार्य के लिए एक-एक अधिकारियों की जिम्मेदारी तय की, राज्य सरकार ने तकरीबन दस अलग-अलग कार्यों के लिए अलग-अलग नोडल अफसर बनाए, साथ ही एक सेंट्रल कमांड सेंटर की भी स्थापना की गई इनके माध्यम से ना केवल संक्रमण की मॉनिटरिंग की जा रही बल्कि गुण-दोष के आधार पर निर्णय भी लिए जा रहे हैं।

पढ़ाई तुंहर दुवार:-
लॉकडाउन के दौरान स्कूली छात्रों को शिक्षा से सतत जोड़े रखने को लेकर मुख्यमंत्री श्री बघेल ने पढ़ई तुंहर दुवार नाम से एप लांच कर ऑनलाइन पढ़ाई की व्यवस्था की, इस ऐप के माध्यम से छत्तीसगढ़ के लाखों छात्र-छात्राओं ने ना केवल इसका लाभ लिया बल्कि कई मौकों पर इसका इस्तेमाल भी किया।

कोटा से बच्चों की वापसी:-
 राजस्थान के कोटा में फंसे बच्चों की वापसी को लेकर जब देशभर में उहापोह की स्थिति थी उस वक्त छत्तीसगढ़ सरकार ने तकरीबन 100 बसें भेज कर 2250 बच्चों की वापसी कराई जिस बात की चर्चा पूरे देश भर में जोर-शोर से की गई।

एक लाख से अधिक श्रमिकों की व्यवस्था और वापसी:-
लॉकडाउन के दौरान छत्तीसगढ़ राज्य के ऐसे मजदूर-श्रमिक और उनके परिवार जो अन्य राज्यों में फंसे हुए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री बघेल ने ना केवल उनके लिए वहां पर्याप्त इंतजाम किए बल्कि उनके वापसी को लेकर भी काफी हद तक तैयारी कर ली गई है।

ऑनलाइन सब्जी विक्रय:-
लॉकडाउन में सब्जी बाजारों में बढ़ती भीड़ को देखते हुए माननीय मुख्यमंत्री श्री बघेल ने ऑनलाइन पोर्टल लांच कर सब्जी-भाजी, फल-फ्रूट का विक्रय ऐप के माध्यम से करने का निर्णय लिया जिसका लाभ लाखों लोगों ने किया।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2