कोरोना की चपेट में डेढ़ साल की वेरोनिका, पिता के साथ अस्पताल में चल रहा इलाज

  • करीब 3 हफ्ते से मां से दूर है वेरोनिका
  • कोरोना से रिकवर होकर मां आ चुकी हैं घर

डेढ़ साल की वेरोनिका इन दिनों अपनी मम्मा (मां) से सिर्फ वर्चुअली ही कनेक्टेड है. मोबाइल पर ही उसकी मम्मा से बात होती है. उसे तैयार करने, डायपर चेंज करने का जिम्मा पापा पर है. वेरोनिका और उसके पापा शिखर त्यागी दोनों Covid-19 पॉजिटिव हैं. दोनों नोएडा के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती हैं.

वेरोनिका जिस यथार्थ अस्पताल में भर्ती है, वहां इस वक्त वह डॉक्टर्स, नर्सेज समेत पूरे स्टाफ की आंखों का तारा बनी हुई है. कोरोना वायरस ने जिस तरह हर तरफ डर, बेचैनी और निराशा का माहौल बना रखा है, उस सभी पर वेरोनिका की एक स्माइल ही भारी है. साथ ही ये स्माइल उस हौसले की भी पहचान है जो कोरोना से लड़ेगा और उसे हर सूरत में मात देगा.

सोशल मीडिया पर जब ऐसी कहानियों की भरमार है कि टेस्टिंग नहीं हो पा रही है, Covid-19 पॉजिटिव मरीजों को अस्पताल-अस्पताल भटकने के बाद भी दाखिला नहीं मिल पा रहा, ऐसे में मां से दूर नन्ही वेरोनिका को जिस तरह अस्पताल में इलाज के साथ पूरे मेडिकल स्टाफ का लाड-दुलार मिल रहा है, वो वाकई में उम्मीद जगाने वाला है.

वेरोनिका के पिता शिखर खुद पॉजिटिव होने के बावजूद इस वक्त मां का भी फर्ज निभा रहे हैं. हमेशा एक कमरे में इतनी छोटी बच्ची को मां के बिना हर वक्त रोके रखना आसान नहीं है. शिखर कभी बेटी के साथ हाई-फाइव खेलते हैं तो कभी मोबाइल और खिलौनों से उसका ध्यान बंटाने की कोशिश करते हैं.

शिखर बताते हैं, सुबह यही मुझे उठाती है, फिर इसको सुबह तैयार करता हूं, ब्रश कराता हूं, डायपर चेंज करता हूं. फिर ये अपनी मम्मा से बात कराने के लिए कहती है. ये खुद ही अपनी मम्मा की फोटो देख कर इशारा करती है कि उनको फोन करो.

तीन हफ्ते से मां से नहीं मिली

हर कोई अस्पताल में इस लिटिल एंजेल को खुश रखने की कोशिश कर रहा है. डॉक्टर अंकल ने जब वेरोनिका को हॉर्स टॉय दिया तो वेरोनिका की आंखों में चमक देखते ही बनी. हर कोई चाहता है कि वेरोनिका अपनी मां की कमी महसूस नहीं करे. वेरोनिका की मां अर्चना भी पूरी कोशिश करती हैं कि वक्त-वक्त पर उससे बात करती रहें. डेढ़ साल की एक बच्ची को आइसोलेशन में इतने दिन तक रखना कितना मुश्किल है, ये समझा जा सकता है. वेरोनिका तीन हफ्ते से अपनी मां से नहीं मिली है.

पिता के साथ वेरोनिका

त्यागी परिवार का घर नोएडा में ही है. शिखर त्यागी सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं और उनका दिल्ली आना-जाना लगा रहता है. वेरोनिका की मां अर्चना की इस महीने के शुरू में सबसे पहले Covid-19 पॉजिटिव होने की रिपोर्ट आई. अर्चना का नोएडा के ही सरकारी अस्पताल में इलाज चला. अर्चना रिकवर होकर घर लौट पातीं इससे पहले ही वेरोनिका और शिखर की भी रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई. दोनों को 14 जून को यथार्थ अस्पताल में भर्ती कराया गया. तभी से उनका यहीं इलाज चल रहा है. अर्चना अब रिकवर होने के बाद घर पर ही हैं.

छोटी उम्र में कोरोना से संक्रमित

अर्चना बेटी वेरोनिका के लिए कहती हैं, मुश्किल था हमारे लिए स्वीकार करना कि इतनी छोटी सी बच्ची कोरोना पॉजिटिव हो गई है और वो इतने दिनों से मुझसे दूर है. अपने पति के लिए कहूंगी कि वो बहुत अच्छे पिता हैं. इतने छोटे बच्चे को संभालना आसान नहीं है. दूध पिलाने से लेकर डायपर चेंज करना. हैट्स ऑफ टू हिम...

Covid-19 से जंग में भारी दबाव में काम कर रहे अस्पताल के तमाम स्टाफ के लिए भी नन्ही वेरोनिका की मासूम हरकतें किसी टॉनिक से कम नहीं. स्टाफ में हर कोई ये प्रार्थना भी कर रहा है कि वेरोनिका और उसके पिता जल्दी से जल्दी रिकवर होकर अपने घर जाएं और वेरोनिका को अपनी मां की गोद मिल सके.

यथार्थ हॉस्पिटल के मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ कपिल त्यागी कहते हैं, वेरोनिका बहुत प्यारी बच्ची है, चार-पांच दिन से वो यहां पर है और उसने डॉक्टर्स और स्टाफ में हर किसी का दिल जीत लिया है. बच्चे के लिए स्पेशल फूड और दूध की जरूरत होती है, जिसका खास ध्यान रखा जा रहा है. हमारी पूरी कोशिश है कि वेरोनिका और उसके पिता जल्दी से जल्दी ठीक हों.

हौसला बनाए रखा जाए, जज्बे से लड़ा जाए तो बुरा वक्त भी गुजर जाता है. कोरोना महामारी का मौजूदा दौर भी एक दिन खत्म हो जाएगा. लेकिन इंसानी रिश्तों और दूसरों की मदद की जो इबारतें इस वक्त लिखी जा रही हैं, उनकी छाप जरूर लंबे वक्त तक याद की जाएंगी.

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2