राहुल गांधी का हमला, 'PM ने कहा - हमारी जमीन पर किसी ने कब्जा नहीं किया...लेकिन सैटेलाइट इमेज तो...'

लद्दाख में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प के बाद हमलावार कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने एक बार फिर प्रधानमंत्री मोदी (PM Narendra Modi) पर निशाना साधा है.

नई दिल्ली: लद्दाख में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प के बाद हमलावार कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने एक बार फिर प्रधानमंत्री मोदी (PM Narendra Modi) पर निशाना साधा है. उन्होंने एक वीडियो ट्वीट किया, जिसमें सैटेलाइट इमेज के हवाले से दावा किया गया है कि चीन ने पेंगॉन्ग झील के पास भारत की जमीन पर कब्जा कर लिया है. राहुल गांधी का ताजा हमला ठीक उसके बाद आया है, जिसमें उन्होंने 'जापान टाइम्स' के एक आर्टिकल को शेयर करते हुए लिखा था, 'नरेंद्र मोदी वास्तव में 'सरेंडर मोदी' हैं.'
आज के ट्वीट में राहुल गांधी ने कहा कि, 'प्रधानमंत्री ने कहा- ना कोई देश में घुसा, ना ही हमारी ज़मीन पर किसी ने कब्ज़ा किया, लेकिन सैटेलाइट फ़ोटो साफ़ दिखाती हैं कि चीन ने  पेंगॉन्ग झील के पास भारत माता की पावन धरती पर कब्ज़ा कर लिया है.  

मालूम हो कि बीते शुक्रवार को सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था, 'लद्दाख में भारत की सीमा में न तो कोई घुसा हुआ है और न ही हमारी कोई चौकी किसी दूसरे के कब्जे में है. पीएम मोदी के इस बयान को लेकर विपक्ष हमलावर है. शुक्रवार को हुई सर्वदलीय बैठक के बाद विपक्ष ने सरकार की आलोचना करते हुए कहा था कि उन्होंने LAC (वास्तविक नियंत्रण रेखा) पर पूरी तरह से स्थिति स्पष्ट नहीं की है, जिसके कारण भारतीय सैनिकों पर क्रूर हमला हुआ.
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मोर्चा संभालते हुए कहा, 'प्रधानमंत्री ने चीनी आक्रामकता के आगे भारतीय क्षेत्र को चीन को सौंप दिया है.' कांग्रेस नेता ने सवाल किया कि अगर यह भूमि चीन की थी तो हमारे सैनिकों की जान कैसे गई? उनकी जान कहां ली गई? 

इसके बाद PMO की ओर से कहा गया है कि प्रधानमंत्री मोदी की वास्तविक नियंत्रण रेखा पर भारतीय सीमा की ओर चीनी सेना की कोई मौजूदगी न होने वाली टिप्पणियां सशस्त्र बलों की वीरता के बाद के हालात से जुड़ी हैं. जारी बयान में कहा गया है था कि सैनिकों के बलिदानों ने ढांचागत निर्माण और 15 जून को गलवान में अतिक्रमण की चीन की कोशिशों को नाकाम कर दिया.बयान में कहा गया है कि सर्वदलीय बैठक में पीएम मोदी ने जो कहा है उस पर जानबूझकर गलत धारणा फैलाई जा रही है. 
बता दें कि पिछले एक हफ्ते के भीतर चीनी सेना 200 से ज्यादा ट्रक और चार पहिया वाहनों और तमाम उपकरणों को LAC के करीब पहुंचा चुकी है. NDTV ने सैटेलाइट की कुछ तस्वीरों के जरिए देखा है कि 9 से 16 जून के बीच चीनी सेना किस तरह से चलहकदमी कर रही है. इलाके में वाहनों की आवाजाही के चीनी सेना द्वारा लगाए गए टेंटों के अलावा दो और बातें हैं जिन पर ध्यान दिया जाना जरूरी है. NDTV ने पहले भी आशंका जताई थी कि चीन गलवान नदी के प्रवाह को रोकने की कोशिश कर रहा है. इन तस्वीरों में भी ऐसा ही कुछ दिखाई दे रहा है, इसके अलावा हिंसक झड़प की संभावित जगह भी नजर आ रही है. LAC के करीब एक स्थल पर काफी मात्रा में मलबा दिखाई दे रहा है.  

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2