न फसल बीमा का लाभ मिला और न ही क्षतिपूर्ति, अब तक भटक रहे हैं क्षेत्र के किसान ...

डोंगरगांव. क्षेत्र के ग्राम घुघवा में सैकड़ों किसानों ने खरीफ सीजन में फसलों का बीमा कराया था, परन्तु इनमें से ग्राम के मात्र 2 किसानों को ही इसका लाभ मिला। इसी प्रकार रबी सीजन के दौरान बेमौसम बारिश व ओलावृष्टि से किसानों की फसलों को भारी नुकसान हुआ, जिसकी क्षतिपूर्ति मात्र 3 किसानों को छोड़कर अन्य को शासन प्रशासन से आज तक नहीं मिली। इसके लिए ग्राम के किसान सरकारी दफ्तरों के सैकड़ों चक्कर लगा चुके हैं। अनेकों आवेदन निवेदन शासन प्रशासन स्तर तक कर चुके हैं, परन्तु अब तक इन किसानों की सुध लेने वाला कोई नहीं आया और न ही किसानों को इसकी भरपाई मिल पायी है।

ग्राम के किसानों ने बताया कि सेवा सहकारी समिति डोंगरगांव के अंतर्गत ग्राम घुघवा के सैंकड़ों पंजीकृत किसानों द्वारा वर्ष 2019 में खरीफ फसल का प्रधानमंत्री फसल बीमा कराया गया था, जिसमें ग्राम घुघवा के मात्र दो ही किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा का लाभ मिल पाया है। जबकि घुघवा के समीपस्थ व पंचायत मुख्यालय ग्राम गुंगेरी नवागांव के लगभग सभी किसानों को बीते वर्ष 2019 में प्रधानमंत्री फसल बीमा का लाभ मिला है। विगत दिनों आश्रित ग्राम-घुघवा के सैकड़ों किसानों ने कलेक्टर एवं जिला पंचायत अध्यक्ष राजनांदगांव को लिखित में ज्ञापन सौंपकर प्रधानमंत्री फसल बीमा का राशि प्रदान करने की मांग किया गया था। शासन के नियमानुसार ग्राम-घुघवा के अनेक किसानों ने जिला सेवा सहकारी समिति डोंगरगांव ऋणी व अऋणी किसानों के द्वारा धान खरीफ फसल के लिए वर्ष 2019 में फसल बाीमा के लिए प्रीमियम राशि भी जमा की थी. लेकिन ग्राम के मात्र दो ही किसानों को फसल बीमा राशि मिल पायी है।

क्या कहते हैं पीडि़त किसान

फसल बीमा व क्षतिपूर्ति के संदर्भ में ग्राम घुघवा के कृषक होमप्रकाश साहू, सितेश साहू, हेमदास खरे, रामेश्वरी साहू, जीवराखन लाऊत्रे, डोहर दास साहू व अन्य ने बताया कि बीते वर्ष के खरीफ सीजन में फसलों के नुकसानी के बावजूद भी बीमा का लाभ नहीं मिला था। वहीं दिसंबर-जनवरी ओलावृष्टि व अत्यधिक वर्षा के कारण सैकड़ों किसानों के रबी फसल, चना/गेंहू पूरी तरह से चौपट हो गया था, जिसका सर्वे राजस्व व कृषि विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों ने संयुक्त रूप से खेतों में जाकर चना, गेंहू आदि फसलों के क्षति का आंकलन किया था, लेकिन 7 माह बीतने के बाद भी सैकड़ों किसानों को अपने फ सल नुकसान का राहत राशि नहीं मिल पाया है, जिसके कारण किसानों की हालात दयनीय हो चुकी है। इधर लॉकडाउन के चलते किसानों के पास धनाभाव है तथा वर्तमान में किसानों को कृषि कार्य हेतु धन की आवश्यकता है।

मुख्यमंत्री से लेकर पटवारी तक सभी जगह लगा चुके हैं गुहार

ग्राम घुघवा के पीडि़त किसानों ने बताया कि किसानों को फसल बीमा व फसलों की क्षतिपूर्ति दिए जाने की मांग को लेकर सैकड़ों किसानों ने मुख्यमंत्री, कृषि मंत्री, जिलाधीश एवं जिला पंचायत अघ्यक्ष को लिखित में ज्ञापन सौंपा था। ताकि ग्राम घुघुवा के वंचित किसानों को भी प्रधानमंत्री फसल बीमा का लाभ मिल सके एवं ओलावृद्वि व पानी गिरने के कारण रबी फसल चना, गेंहू नष्ट हुआ है, इसकी क्षतिपूर्ति की राशि शासन के द्वारा किसानों को दिलाने की मांग की गई है।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2